गुरुकुल अखंड भारत संस्था द्वारा काव्य गोष्ठी में सम्मिलित कवियों एवं प्रशिशिक्षुओं को साहित्य एवं योग प्रशिक्षण सम्मान पत्र से सम्मानित करते हुए
Advertisement
ॐ भूर्भुव: स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं भर्गो देवस्य धीमहि धियो यो न: प्रचोदयात्।
Inovation & Motivation Programme In Punjab By Er. Tarun Banda

और पढ़ें 👨‍🏫🧑‍🏫👩‍🏫🖋️

Show more

प्यारे बच्चे

#दिनांक:-12/7/2024 #शीर्षक:- प्यारे बच्चे। मन के सच्चे प्यारे बच्चे, हर जिद को रोकर मनवा लेते, शैतानी में शैतान के…

बचपना

#बालगीत #दिनांक:-6/7/2024 #शीर्षक:-बचपना पुआल पर दौड़कर जीत जाते हैं, बारिश में भीगकर नाव चलाते हैं।…

कर्मठ बनिए

#दिनांक:-5/7/2024 #शीर्षक:-कर्मठ बनिए निरन्तर लगाव का भाव रखना , हद और सरहद जमीन की होती है ।।1। भारतीय अंधेरे भी …

छूट गया हूं कहीं ! .

शीर्षक - छूट गया हूं कहीं ! .... मैं बहुत सारा छूट गया हूं कहीं! जो बचा हुआ है, वो उतना मेरा नहीं, जितना उसका है। उसका …

नमन वंदनवार सब करते चलो

#दिनांक:- 22/6/2024 #शीर्षक:-नमन-वंदन सब करते चलो। जीने के कुछ उसूल भी जरूरी हैं, उम्मीदें कहाँ सबकी यहां…

कितना वक्त लगता है ?-मुकेश चंचल

शीर्षक :- कितना वक्त लगता है ?..... कितना वक्त लगता हैं किसी के 'जाने'  को स्वीकार करने में ? कितने वक़्त बाद हम…

जताने लगते हो

#दिनांक:-20/6/2024 #शीर्षक:-जताने लगते हो। अनदेखे किरदार के हकदार हैं हम, जिम्मेदारियों के मजबूत दीवार हैं हम। आँस…

रक्तदान

#दिनांक:-14/6/2024 #शीर्षक:- रक्तदान भारत देश का भरत बनूँ , किसी जीवन का रक्तकमल बनूँ । संतुष्टि और खु…

दो बूढ्ढे बुढ्ढी की नोंक-झोंक- राजेंद्र सिंह स्योराण

दो बूढ्ढे  बुढ्ढी की नोंक-झोंक इन 60-65 साल के अंकल आंटी का झगड़ा ही ख़त्म नहीं होता... एक बार के लिए मैंने सोचा अंकल औ…

आवाज मन की

आवाज मन की #दिनांक:-8/6/2024 #शीर्षक:-आवाज मन की ताना-बाना दिमाग का मन से, छुआ-छूत जाति-धर्म मन से । मिटाते भूख नजर पट्…

साँवरिया

#दिनांक:-10/6/2024 #विधा:-गीत #शीर्षक:- साँवरिया मोहे भूल गए साँवरिया रे मैं घूमूॅ वन वन तेरे लिए आने का तूने वचन …

दीवानों की चाल है

#दिनांक:-29/5/2024 #शीर्षक:- दीवानों की चाल है। बेवा विवाह सामाजिक बवाल है । प्रेमपूर्ण हृदय करता मलाल है ।।1। रोक-…

सब धरा का धरा रह जायेगा

#दिनांक:-28/5/2024 #शीर्षक:-सब धरा का धरा रह जायेगा किस बात का घमंड है बन्दे, जो सीरत से ज़्यादा सूरत पे इतराता है, …

Load More That is All

#buttons=(Ok, Go it!) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn more
Ok, Go it!
Welcome to Gurukul Akhand Bharat Charitable TrustRegisted Under Govt. of India, 09AAETG4123A1Z7
Hello, How can I help you? ...
Click me to start the chat...